01 April 2004

आज आपने फील गुड किया या नही?

सवेरे उठती हैलो हाय छोड़िये जय माता की बोलिए की चीत्कार
साथ में गुरुद्वारा और मस्जिद और काँटा लगा का मिला जुला शोर
बोर्ड परीक्षार्थीयों एवं उनींदे बच्चों को जबरन फील गुड कराता है
आज आपने फील गुड किया या नही? मैं तो कर रहा हूँ
नलों की टोटियाँ तीन दिन से सिसक रही हैं जल संस्थान का टैंकर भी नदारद है
शायद कार्पोरेटर महोदय की भतीजी के विवाह समारोह में लगा है
ईडियट बाक्स बताता है जल सँकट भूगर्भजलस्तर के रूठने से छाया है
कोक पेप्सी जैसी फैक्ट्रीयाँ दिनप्रतिदिन पातालतोड़ जलदोहन करती हैं
और भूगर्भजलस्तर फिल्मी हिरोईन के मानिंद शर्मा गया
पर आप ईससे फीलबैड की खता न करिए
और कीटनाशकों से भलीभाँति स्वच्छ किए गये मिरांडा का स्वाद लिजिए
सरकार ने क्लीन चिट दी है इसलिए नाहक चिंता न कीजिए
आपने अभी तक फील गुड किया या नही? मैं तो कर रहा हूँ
हमें दिल जीतना आता है और सिर्फ दिल ही जीतना आता है
बगल से कुछ सिरफिरे हमारे सिर पर चड़ कर बंदूक दाग जायें
जम्मू में मासूम बच्चें गोलियों से छलनी कर दिये जायें
या अनगिनत कश्मीरी अपने अपने घरौंदे से बेदखल होकर टेंट में रहें
पर हम मासूम खाड़कुओं के घावों पर हीलिंग टच देते रहेंगे
ऐसा नही कि हम बेगैरत हैं दब्बू हैं या साफ्ट स्टेट हैं
भाई अलबर्ट पिंटो की तरह हमें भी गुस्सा आता है
हम भी कभी कभी जबानी गोलीबारी कर लेते हैं
लेकिन पावेल साहब या टोनी अंकल की डपट से हमारी पैंट ढीली हो जाती है
अब कहीं वो हमारा राशन पानी बंद कर दें तो आप सब फील बैड ही करेंगे
भाई नेताजी खुद मिनरल वाटर पीकर पब्लिक को एक टाईम भूखा रहने की सीख नही दे सकते
तभी तो हमारी क्रिकेट टीम भी नटखट पड़ोसियों को फील गुड करा रही है
लगता है आपको हर बात में मीन मेख निकालने की आदत है
अरे भाई आपको तो स्वर्णिम चतुर्भज से भी शिकायत है
क्या हुआ जो वह आपके शहर से दूर से निकल जाता है
आपके शहर में तंग सड़के ही सही पर बेंज और टोयोटा की डीलरशिप तो है
मर्सिडीज चलाईये डीवीडी देखिये दोसौ का बरगर खाकर फील गुड करिए
नौकरी न मिलने की रट छोड़िए , एमवे के प्रोडक्ट बेचिए चाहे घर घर रूमाल की फेरी लगाईये
कुछ न मिले तो किडनैपिंग का धंधा जाम लीजिए , फिल्में सब सिखा देंगी
कुछ भी करिए पर फील गुड जरूर करिए
नहीं तो पड़ोस का लड़का जो अब तक लंपट बन के घूमता था
कल त्रिशूल थामे आयेगा और आप जैसे नास्तिक दुकनदारों से चंदा वसूली करेगा
दिन भर आप के पैसे से आप ही को कानफोड़ू लाउडस्पीकर पर धार्मिक शोर सुनाएगा
और रात में मंदिर के बाहर चबूतरे पर काँटा लगा चिल्ला चिल्ला कर लौडाँ डाँस दिखाएगा
ईसलिए कहता हूँ कि शाँति व्यवस्था में सहयोग दीजिए और पेट्रोल गैस के दाम बड़ने दीजीए
अब तक नपुंसक रहे हैं तो अब भी अपने दड़बे में घुसे रहिए,
बेवाच देखिए चाहे फैशन चैनल देखिए, पर फील गुड करिए और ईंडिया को शाईन करने दीजिए|

No comments: