19 October 2004

मुझे भी कुछ कहना है|

 



क्यों खफा हैं, जनाब?

अगर यही बात आपकी प्यारी बिल्ली या आपके पालतू कुत्ते ने कही हो तो? अरे भाई वे भी अपनी पसंद नापसंद जाहिर करना चाहते हैं| यकीन नही आता तो जरा दिमाग पर जोर डाल कर देखिए कि आपका प्यारा कुत्ता अब क्यो बाहर जाते ही हर दूसरे जानवर पर टूट पड़ता है? यकायक आपकी बिल्ली क्यों घर की चीजे उलट पुलट करने लगी है या फिर आपका तोता अब मेहमानों से रामराम या हैलो कहने की जगह चीखता क्यो है? अमेरिका में पशुमनोविज्ञानियों का काम ऐसी ही गुत्थियों को सुलझाना है| चौंकिए मत, यह कोई पैसे ऐंठने का नया तरीका नही है| पशुमनोचिकित्सकों की बकायदा web sites हैं| वे पहले आपसे आपके पालतू पशु की तस्वीर,जन्मकुडंली यानि कि वह आपके घर कब आया और उसके खानपान,व्यवहार,उसके बाकी संगीसाथियों का ब्यौरा और संक्षेप में समस्या का वर्णन मँगाते हैं| फिर वे टेलीपैथी का ईस्तेमाल करते हैं और बकायदा आपके पालतू पशु के साथ दोचार मीटिंग में उन्ही की भाषा में बातचीत करते हैं| नतीजे कई बार आपको दंग भी कर सकते हैं, जैसे कि आपके कुत्ते या बिल्ली को कोई खास किस्म का खाना या शैंपू नापसंद हो सकता है| या हो सकता है कि उन्हें आपका नये म्यूजिक सिस्टम की तेज आवाज नागवार गुजरती हो| कई बार तो जानवरों को आपके रहने की जगह भी नापसंद होती है| जानवर बेजुबान जरूर होते है पर अपनी भावनाऐं अपनी हरकतों से व्यक्त कर सकते हैं|अगर आपको यकीन न हो तो गूगल पर "Pet Psychic" की सर्च करके देखिए, दर्जनों web sites खुल जायेंगी| मुझे अपने चचेरे भाई सचिन का कुत्ता रेक्सी याद आता है| रेक्सी गुरू गर्मी की नींद का मजा ले रहे थे और सचिन भाई हर दस पद्रंह मिनट में रेक्सी के पास से जब भी गुजरते तो आवाज देते "रेक्सी, सो रहे हो?" बेचारे रेक्सी की नींद में खलल पड़ रहा था| जब सचिन की यह हरकत रेक्सी की बर्दाश्त से बाहर हो गई तो उसने खौखिया कर सचिन को दौड़ा लिया और कमरे में दुबकने पर मजबूर कर दिया| जब भी सचिन बाहर निकलने की कोशिश करते, रेक्सी यमदूत की तरह रौद्ररूप धारण कर उन्हे अंदर जाने पर मजबूर कर देता| पूरे दो घंटे नजरबंद रहने के बाद सचिन भैया ने चाचाजी से मदद की गुहार लगायी| चाचाजी जब चमड़े की बेल्ट लेकर आये तभी रेक्सी मियाँ का पारा कम हुआ|

14 October 2004

आदर्श अनिवासी भारतीय (एनआरआई) होने का लिटमस टेस्ट : भाग-एक

हर प्रश्न से एक विकल्प चुनिए और देखिए आप कितने परफेक्ट एनआरआई बन चुके हैं|




Are you a perfect NRI?

प्रश्न १ : आपका प्रिय दोस्त भारत से अपनी नवविवाहित पत्नी के साथ वापस आया है और उसने आपको मित्रदल सहित रात्रिभोज पर बुलाया है| आपको अच्छी तरह पता है कि भोजन के साथ आपको उसका शादी का तीन घंटे का वीडियो कैसेट भी झेलना पड़ेगा| सुस्वादु भोजन के लालच एवं महाबोर कैसेट की पीड़ा के अतंर्द्वद के बीच फंसे आप क्या करेंगे?
क) मित्र के घर जायेंगे और मौका पाकर शादी का कैसेट वीसीआर से निकाल कर चुपके से खिड़की के बाहर उछाल देंगे|
ख) डिनर के बाद लेकिन कैसेट चलने से पहले असह्य पेट दर्द का बहाना बनाकर फूट लेंगे|
ग) पूरी तनमयता से वीडियो कैसेट देखेंगे, यहाँ तक कि शादी में आयी दोस्त की बीबी की चचेरी ननद की खाला की सास का नाम भी आपको याद रहेगा|

प्रश्न २ : आप, डा. गुप्ता जो कि स्थानीय भारतीय समाज मंच के महासचिव हैं, उनके घर पर निमंत्रित हैं , और भोजन के बाद उनका भारतीय संस्कारो पर निरर्थक प्रलाप सुन रहे हैं| तभी उनका चार साल का बेटा प्लास्टिक के बेसबाल बैट से खेल खेल में आपको मारना शुरू कर देता है| नाकाबिले बर्दाश्त हो जाने पर आप क्या करेंगे?
क) बच्चे से बेसबाल बैट छीनकर आप उसी बैट से बच्चे एवं डा. गुप्ता दोनो की धुनाई कर डालेंगे|
ख) रसोई से मिसेज गुप्ता को बुलाकर उन्हें लेक्चर पिला देंगे कि उनका बेटा महाशैतान है और बच्चा पालने की अकल गुप्ता दंपत्ति को कतई नहीं है|
ग) बच्चे की हरकत प्यार से झेलते रहेंगे और ऐसी हरकतो को पारिवारिक संस्कार समझ कर गुप्ता जी के यहाँ यदा कदा जाते रहेंगे|

प्रश्न ३ : आपको अगले हफ्ते भारत जाना हैं और आप रिश्तेदारों के लिए क्या लेजाऊँ की दुविधा से ग्रस्त हैं| आप क्या करेंगे?
क) डालरस्टोर से हर माल एक डालर वाली चीजें खरीदेंगे पर भारत जाकर लम्बी हाँकेंगे कि यह बड़े महँगे तोहफे हैं|
ख) सब कुछ भारत जाकर किसी फुटपाथिया मार्केट जहाँ कस्टम में जब्त माल मिलता हो वहाँ से खरीदेंगे|
ग) बाय वन गेट टू फ्री सेल का ईंतजार करेंगे|

प्रश्न ४ : पहले कभी आपने अपने दोस्त को अपने शास्त्रीय स्गीत का प्रेमी होने की शेखी मारी थी| आज वह आपको अपनी कार में उस्ताद शाहरूख अली खान के कंसर्ट में ले आया है जो पाँच घंटे बाद भी गाना बंद करने का नाम नही ले रहे| वापस आपको दोस्त की ही गाड़ी में जाना है जो उस्ताद के गायन में ईतना खोया हुआ है कि उसे गुमान नहीं कि आपका धैर्य चुक चुका है| अब आप क्या करेंगे?
क) मंच पर जाकर तबलची के एक झापड़ रसीद करेंगे और तबला फाड़ कर सुनिश्चित कर लेंगे कि गाना दुबारा न शुरू हो जाये|
ख) अँधेरे का फायदा उठा कर उस्ताद पर आधा खाया केला उछाल देंगे|
ग) ताली बजा बजा कर "वाह, कमाल कर दिया" की दाद उछालते रहेंगे और वापस जाते हुए हाल के बाहर लगे स्टाल से उस्ताद के दो साल पुराने कंसर्ट की सीडी ले जाना नहीं भूलेंगे|

प्रश्न ५ : आप भारत समाज (या कोई भी ब्राह्मण समाज,तमिल समाज या गुजराती समाज) के सम्मिलन समारोह में दोस्तो से बैठे गप्प लड़ा रहे हैं| अचानक आपको अध्यक्ष महोदय वार्षिक चंदा एकत्र करते हुए अपनी तरफ आते दिखते हैं| आप क्या करेंगे?
क) "आग,आग" चिल्लाते हुए भाग जायेंगे|
ख) सफेद झूठ बोल देंगे कि आप संस्था के आजीवन सदस्य हैं|
ग) अपनेआप को पाकिस्तानी बताकर पीछा छुड़ा लेंगे|

प्रश्न ६ : आप जानते हैं हर दोस्त भारत दौरे से या तो शादी करके लौटता है या सगाई करके| पर आपके परिवार वालों के कान पर आपकी मिन्नतों से भी जूँ नहीं रेंगी| वापस लौटने पर मित्रमंडली में होने वाली फजीहत से कैसे बचेंगे?
क) सबको सफेद झूठ कह देंगे कि आपकी नम्रता शिरोडकर से सगाई हो गई है और उसकी सारी अधूरी पिक्चरों की शूटिंग पूरी होने के बाद आप दोनो परिणय सूत्र में बँधने वाले हैं|
ख) सबको सफेद झूठ कह देंगे कि सारे आने वाले रिश्तों में दहेज मिलने की शर्त थी, और आप जैसा आदर्शवादी उन्हें ठुकराकर आ गया|
ग) सबको सफेद झूठ कह देंगे कि आपने ईस्कान की सदस्यता के साथ साथ आजन्म ब्रह्मचर्य का व्रत ले लिया है, ताकि आप निर्बाध रूप से समाज सेवा कर सकें|

प्रश्न ७ : शब्द "मल्टी" का उच्चारण कैसे करेंगे?
क) कार्यस्थल पर और अंग्रेजो के बीच "मल्टाई", देशियों के बीच "मल्टी"|
ख) ठीक उल्टा, यानि कि देशियों खासतौर पर बिहारियों,यूपी वाले और मद्रासियों के सामने "मल्टाई" जब्कि अंग्रेजो के बीच "मल्टी"|
ग) "मल्टी" और इसके जैसे अन्य विवादास्पद शब्दों जैसे एन्टी,रूट और सेमी के प्रयोग से यथासंभव बचेंगे|

प्रश्न ८ : आखिरकार आप एक हिंदुस्तानी स्वपनसुंदरी को व्यक्तिगत रात्रिभोज पर महँगे भारतीय रेस्टोरेंट में लेजाने में कामयाब हो जाते हैं| आपके अनुरोध पर वह खासा महँगा डिनर और मैंगो लस्सी आर्डर करती है| आपके पर्स को और चूना लगाते हुए वह केसर कुल्फी भी मँगा लेती है और बातो के दरम्यान आपसे पीछा छुड़ाने के लिए वह आपने एक ब्वायफ्रेंड का जिक्र करती है जो भारत में है| उस वक्त आप क्या करेंगे?
क) हँगामा करते हुए तमाशा खड़ा कर देंगे| उसे कह देंगे यह सरासर खुदगर्जी है| उसे कम से कम बिल चुकाने के लिए राजी करेंगे| उसके न मानने पर उसकी केसर कुल्फी झपट लेंगे|
ख) एक अभिजात्य की तरह पेश आयेंगे, और बाथरूम जाने के बहाने बिना बिल चुकाये फूट लेंगे और फिर कभी उसके सामने नहीं पड़ेगे|
ग) उसको चुनौती देंगे| उसे अपने ब्वायफ्रेंड की वास्तविकता साबित करने को मजबूर कर रक्षात्मक रूख अपनाने पर मजबूर करेंगे| अपने को विकल्प के रूप में पेश करेंगे|

परिणाम विश्लेषण
१) अगर आपके सारे जवाब (क) हैं तो
शत शत बधाई| आप अप्रवासी भारतीयों के पद्म विभूषण हैं| आपको एनआरआई श्रेणी में उच्च स्थान प्राप्त होने के कारण कोई भी ऊलजलूल हरकत करके साफ बच निकलने की पूरी लाईसेंसी छूट हासिल है|
२) अगर आपके कुछ जवाब (ख) मगर ज्यादातर जवाब (क) हैं तो
आप काफी प्रगति कर चुके हैं| कुछेक साल डालरलैंड में रहने और दोचार सुपरबाऊल टूर्नामेंट देखने के बाद आप अप्रवासी भारतीय पद्म विभूषण पदक पर अपना दावा ठोंक सकते हैं|
३) अगर आपके कुछेक जवाब (ग) हैं तो
आप प्रगतिपथ पर हैं, भारतीय वेबसाईट एवं मैसेजबोर्ड देखना बंद कर बेएरिया में मूव हो जाईये, अच्छे एनआरआई बन जायेंगे|
४) अगर आपके सारे जवाब (ग) हैं तो
आप यहाँ खामखाँ झक मार रहे हैं, इससे तो आप भारत में ही भले थे|

13 October 2004

पर्यावरण समर्थक आतंकवादी!

Schuylkill Expressway
अखबार के मुखपृष्ठ पर खबर थी कि पृथ्वी मुक्ती संगठन की कारगुजारी से कल हमारे फिलाडेल्फिया में I-76 (Schuylkill Expressway) पर लंबा जाम लग गया| हजारो लोग फँस गये| एक बम की अफवाह थी| बम निरोधक दस्ता घंटो लगा रहा पर बम नकली निकला|भाई लोगों ने पर्यावरण विरोधी किसी सरकारी नीति के विरोध में नकली बम लगाकर हँगामा खड़ा कर दिया| इस संगठन का पर्यावरण की रक्षा के लिए सरकार को झिंझोड़ने का अंदाज निराला है| इनका एजेंडा तेल फूँकने वाली मँहगी गाड़ियों एवं पर्यावरण को नुकसान पहुँचाने वाली सरकारी नीतियों का विरोध है| भारत में कुंभकर्णी नींद सोने वाले शासन व पर्यावरण को नुकसान पहुँचाने वाले उद्योगों, नदियों में कचरा फेंकने वाली टेनरियों को क्या ऐसे ही जगाना पड़ेगा? क्योकि सब चलता है वाली मानसिकता ने हमारे वन विलुप्त कर दिए हैं, नदियाँ प्रदूषित कर दी हैं, सड़कों पर कचरा है और साँसो में धुँए का जहर जा रहा है| पर धरना प्रर्दशन से अब तक हासिल क्या हुआ है?

05 October 2004

लखनऊ का नया चेहरा


मायावती द्वारा बनवाया गया करोड़ो का अंबेदकर स्मारक| अब मुलायम सरकार द्वारा उपेक्षाकृत होकर धूल खा रहा है| काश अंबेदकर के साथ गाँधी , नेहरू ,भगत सिंह वगैरह को भी जगह दे दी होती तो यह दिन न देखना पड़ता|