21 April 2005

जुड़वाँ होने का (ना)जायज फायदा!

आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में क्या आपका दिल नहीं करता कि काश या तो दिन ३६ घंटे का हो जाये या फिर आपका कोई क्लोन पैदा हो जाये| वैसे इस तरह का प्रयोग करने से पहल जनाब डग कीनी का क्या हुआ यह जरूर जान लीजिएगा| लेकिन सैन एंटोनियो के मेयर पद के प्रत्याशी श्रीमान जूलियन कैस्ट्रो ने तो कमाल ही कर दिया| उनके चुनाव संचालको ने शायद उनकी एक मुलाकात उसी समय तय कर दी जिस समय उन्हें एक चुनावी रैली में भाग लेने था| पर आड़े वक्त पर अगर भाई वह भी जुड़वाँ न काम आयेंगे तो क्या पड़ोसी काम आयेंगे? जूलियन साहब के जुड़वाँ भाई जोक्विन कैस्ट्रो रैली में लोगो का अभिवादन और फूलमालाऐं स्वीकर करते रहे जब्कि उसी समय जूलियन साहब अपनी मीटिंग निपटाते रहे| एक अन्य प्रत्याशी फिल हार्डबर्गर ने फरमाया कि लड़कपन में किसी माशुका के पास अपना जुड़वाँ भाई भेज देना लड़कपन का मजाक हो सकता है पर लाखो लोगो के सामने इस तरह अपनी जगह अपने जुड़वाँ भाई को भेजना धूर्तता है| अब विरोधी उम्मीदवारों को बुरा लगे तो लगता रहे पर यह दोनो भाई तो गा रहे हैं कि

जलने वाले तो जलते रहेंगे|
हाथो को अपने मलते रहेंगे|
मिल के करेगे हम धमाल|

1 comment:

Tarun said...

interesting....fayda uthane ke chakar me bus kahin unhe lene ke dene na par jaayen