19 June 2007

श्राप से मुक्ति !

पेश है फिलाडेल्फिया की सबसे ऊँची इमारत की एक झलक । केबल टेलीविजन के क्षेत्र का महारथी कामकास्ट इस 975 ft ऊंची इमारत का निर्माण करा रहा है। इसमें ५७ मंजिले होंगी। १८ जून को इमारत की आखिरी शहतीर को समारोहपूर्वक छत पर पहुँचाया गया । इस अवसर पर कामकास्ट के संस्थापक, कार्यकारी अधिकारी व फिलाडेल्फिया के मेयर मौजूद थे। इस शहतीर पर अमेरिकी ध्वज और विलियम पेन की काँसे की प्रतिमा विराजमान थी। माना जाता है कि करीब एक शताब्दी तक विलियम पेन की सिटी हाल पर लगी प्रतिमा से ऊँची ईमारत किसी निर्माणकर्ता ने नही बनायी। यह पंरपरा १९८७ में ४२ मंजिला लिबर्टी प्लेस ने तोड़ी। चित्र में निर्माणाधीन कामकास्ट टावर के बगल में लिबर्टी प्लेस की जुड़वाँ इमारतें थोड़ा नीचे घड़ी वाले टॉवर पर खड़े विलियम पेन को मुँह चिढ़ा रही हैं।
ऐसी मान्यता है कि विलियम पेन को नीचा दिखाने का श्राप फिलाडेल्फिया की खेल टीमों को झेलना पढ़ रहा है जिन्होनें १९८३ से कोई बड़ा खिताब नही जीता। कामकास्ट टावर के निर्माणकर्ता का मानना है कि विलयम पेन को कामकास्ट टावर पर विराजने से इस श्राप से मुक्ति मिल जायेगी।

यहाँ यह बताना जरूरी है कि फिलाडेल्फिया शहर पेनसिलवेनिया प्रांत में है और इस प्रांत का नाम विलियम पेन के नाम पर पड़ा था। विलियम पेन ने संयुक्त राज्य की परिकल्पना सर्वप्रथम की थी । विलियम पेन के पिताश्री के कर्जदार थे इंग्लैड के राजा किंग जार्ज द्वितीय। कर्जा निपटाने को उन्होनें विलियम पेन को १६८१ में न्यू जर्सी के दक्षिण में खासी जमीन दे दी। इसे विलियम पेन नें पेनसिलवेनिया राज्य के नाम से विकसित किया।

3 comments:

Udan Tashtari said...

अच्छी जानकारी पूर्ण ज्ञानवर्धक पोस्ट.

Shrish said...

रुचिकर जानकारी।

संजय बेंगाणी said...

अच्छी जानकारी.
बाकि श्राप!...
ठीक है भाई, मुक्ति मिले तो अच्छा ही है :)